कार की दीवानी को चोदा

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप? आशा है सब लोग ठीक होंगे! ये कहानी मेरी है और मेरा नाम श्याम है! तो सीधा कहानी पर आते हैं!


मेरे पड़ोस में एक तन्नू नाम की लड़की आती जाती रहती थी, मतलब वो घर उसके मौसा का था तो हर तीन महीने में वो आ जाती थी! तन्नू की उम्र करीब 23 साल थी और दिखने में गोरी चिट्टी थी!

मेरा तन्नू से बोलना चलना बहुत कंथा क्युकी वो आती भी कम थी पर जिस घर में आती थी उस घर में अच्छी बातचीत थी! तो एक बार हुआ ऐसा की तन्नू को यंहा कोई इंस्टिट्यूट में दाखिला लेना था और उसके मौसा को इतना ज्ञान नहीं था!

उन्होंने उसे मेरे पास जाने को कहा, बता दूँ आपको तन्नू बहुत ज्यादा ऐटिटूड वाली लड़की थी और मुझसे ज्यादा भाव खाती थी! काम पड़ गया तो मुझसे बात करनी पड़ी और मैंने उसे इंस्टिट्यूट के बारे म सब बता दिया कैसे क्या करना है और कोनसा बढ़िया हैं!

तन्नू एक हफ्ते से डेली इंस्टिट्यूट जा रही थी और उसे आने जाने में दिक्कत नहीं हुई! अगले दिन मने नयी गाड़ी लेली और जब मैं उसके मौसा के घर लड्डू बाटने गया तो उसके मौसा ने पूछा किस बात के लड्डू बाँट रहे हो बेटा!

बगल में वो तन्नू बैठी थी मुझे देखकर मुँह बना लिया और मैंने कहा की नयी गाड़ी ली हैं मैंने उसके लड्डू हैं ये! पता नहीं जैसे मैंने ये बताया अंकल को तो वो तन्नू मुझे घूर घूरकर देखने लग गयी!

फिर अगले दिन मैं ऑफिस गया था तो मुझे अननोन नंबर से कॉल आया मैंने उठाया तो वो तन्नू थी! उसने बोलै वो इंस्टिट्यूट से रास्ता भूल गयी और परेशान हैं, तो प्लीज मुझे लेने आ सकते हो?

मैं थोड़ा घबरा गया मुझे कुछ समज नहीं आया तो मैं उठा ऑफिस से छुट्टी ली गाड़ी में बैठकर उसकी लोकेशन पर आ गया! वो थोड़ा डरी हुई थी! मैंने उसके पास गया तो वो एकदम से मुझसे लग गयी और बोलै धन्यवाद तुम यंहा आये!

फिर मैंने उसे गाड़ी में बैठ लिया और वो पुरे रस्ते मुझे देखे जाए और सॉरी बोलती गयी की उसने मुझे ऐटिटूड दिखाया और भाव खाया मेरे सामने! मैंने कहा कोई बात नहीं, पर मैं मन ही मन सोच रहा था ये एक दिन में इतना कैसे बदल गयी!

फिर ऐसा बहुत बार बहुत हुआ वो किसी ने किसी बहाने से मुझे बुला लेती थी! और एक दिन ऐसा हुआ गाड़ी सर्विस के लिए गयी थी तो मै ऑटो में आ गया उसे लेने!

जब उसने मेरको ऑटो से आते देखा तो उसका मुँह उतर गया और उसने कहा गाड़ी क्यों नहीं लाये? मैंने कहा वो सर्विस के लिए गयी हैं! फिर हम साथ घर तो आ गए और मुझे ये समज में आ गया की वो मेरी गाड़ी की वजह से मुझसे इतना बदली हैं और अच्छे से बात कर रही हैं!

एक दिन इसे कहीं दूर जाना था तेज बारिश हो रही थी और मैं घर पर था! तो इसने मेरी गाड़ी खड़ी देखि और इसने मुझे फ़ोन लगा दिया और जाने के लिए मनाने लगी!

मैंने भी अब नखरे दिखने शुरू करदिये और वो गाड़ी के बिना रह नहीं सकती थी तो मिन्नतें करने लगी! आखिर में मैंने हां भरदी और उसे लेकर जाने लगा, अब उसे पता डेली आनी हैं और मैं अब भाव खाने लगा हूँ! तो उसने मेरे करीब आना शुरू करदिया, कबि मेरे हाथ पर हाथ रख देती और कभी बात बात पर हग करदेती!

ये सब इसीलिए कर रही थी वो क्युकी उसे गाड़ी बहुत प्यारी थी! उसके बात बात पर हुग करना मुझे अच्छा लगने लगा और एक दिन वो ब्रा नहीं पहन कर आयी तो उसने मुझे गले से लगाया तो उसके खड़े निप्पल मेरे शरीर पर टच हुए! उसने गले इतनी जोर से लगाया की बूब्स मेरी छाती से दब रहे थे!

इतनी देर तक गले लगाया की मेरा खड़ा हो गया और मैंने उसे किस करदिया! उसके बाद वो गुस्सा हो गयी की तुमने किस कैसे किया मुझे? मैंने कहा तुम्हारे बूब्स मेरी छाती से टकरा रहे थे इसीलिए मेरा मन हो गया! उसने कहा छी तुम इतना गन्दा सोचते मेरे बारे में ? मैंने कहा यार तुम बात बात पर गले लग जाते हो तो कुछ नहीं, मैंने एक किस ही तो किया हैं!

तन्नू को गुस्सा आ गया ऑटो पकड़ कर घर चली गयी! दो दिन किसी ने बात नहीं करी और अगले दिन उसके इंस्टिट्यूट में बहुत बड़ी पार्टी थी! तन्न्नू ने मुझे एक रात पहले कॉल किया और सॉरी मांगी की उसे ऐसा नहीं करना चाहिए था!

मैंने उसे कहा सॉरी से काम नहीं चलेगा अगर तुम सच में चाहती हो मेरसे माफ़ी तो मुझे किस करना होगा होंठो पर! वो पहले कुछ नहीं बोली फिर अचानक उसने कहा ठीक हैं सिर्फ किस करेंगे इससे आगे कुछ नहीं!

मैंने कहा ठीक है उसने कहा कल उसे इंस्टिट्यूट पार्टी में जाना है क्या छोड़ दोगे? मैं समज गया की ये मेरे कार के बिना नहीं जाएगी तो मैंने थोड़ा नखरे दिखाए तो इसने बोला की उसने सबको ये बता रखा था की उसके पास गाड़ी है तो प्लीज सबके सामने बेस्ती हो जाएगी उसकी मान जाओ!

अब तो मेरे नखरे और बढ़ गए मैंने कहा मतलब तुम सिर्फ इसलिए माफ़ी मांग रही थी? उसने कहा अरे नहीं!! अच्छा ठीक है तुम्हे जो करना हैं कल करलेना अब मान जाओ प्लीज!

बस मेरा खड़ा हो गया और मैंने हां भरदी! सुबह मैंने उसे एक घंटे पहले बुलाया और वो घर से तो फुल पैक होकर निकली और फिर उसने कहा बताओ कंहा चलना हैं ?

फिर मैं उसे एक सुनसान पार्किंग में ले गया और मैंने कहा ये सही जगह हैं! तो उसने कहा एक मिंट पहले मैं चेंज करलु! मैडम घर से पुरे कपड़े पहन कर निकली और वंहा असली रंग दिखाए!

मैडम ने अंदर लाल रंग की शार्ट ड्रेस पहनी हुई थी! मेरा तो उसे देखकर ही खड़ा हो गया! फिर उसने कहा जो करना हैं जल्दी करो और मैंने सीधा उसे किश करदिया वो भी उसके होठो पर!

बहुत देर तक हम दोनों ने किस किया और फिर मैं धीरे धीरे उसके गले से निचे आने लगा और मैंने उसे उसकी ड्रेस उतारने को कहा! उसने कहा कोई आएगा तो नहीं ना मैंने कहा कोई नहीं आएगा! फिर वो कच्छी और ब्रा में आ गयी वो भी मैचिंग रंग की लाल लाल !

मैंने उसे चूमना शुरू करदिया और उसके ब्रा का हुक खोल दिया और ब्रा उतार दी! अब उसके नंगे चुचे मेरे सामने थे गोरे मस्त गोल चुचे! मैं उसके बूब्स को चूसने लगा और चाटने लगा वो बार बार इधर उधर देखती रही और बोली जल्दी करो कोई आ जायेगा और वो बार बार जल्दी करो जल्दी करो कर रही थी तो मैंने उसके निप्पल्स पर जोर से काटा!

वो चिल्ला पड़ी और बोली क्या कर रहे हो यार! फिर मैंने उसे कहा क्या जल्दी करो जल्दी करो लगा रखा हैं करना है मजे लेकर करो वरना रहने दो! फिर वो सॉरी सॉरी बोली और कहा की अच्छा ठीक से करूंगी पर काटना मत !

मैंने उसे कहा डरो मत कोई नहीं आएगा अब यंहा दयान दो !उसके बाद मैंने उसके बूब्स करीब 10 मिनट तक चूसे और अब मैंने उसे उसकी कच्छी उतारने को कहा! उसने बोलै कच्छी क्यों? मैंने कहा तुमने ही तो कहा था की जो करना है करलेना ! उसने कहा अरे मैंने सिर्फ ऊपर से करने को बोला था !

मैंने कहा मैं तो मन बनाकर आया हूँ तुम्हे नहीं करना तो हम घर चलते हैं? उसने कहा यार फिर तुम बाद में नखरे करोगे गाड़ी में नहीं गुमाओगे ! मैंने कहा जंहा बोलेगी वंहा चलेंगे अब बताओ ?

उसने कहा फिर तो ठीक है मुझे क्या दिक्कत जो करना है करलो ! बस मैंने उसकी कच्छी उतारदी और सीधा उसकी चुत में लंड डाल दिया! वो चिल्ला पड़ी आह्ह्ह्ह थोड़ा धीरे करो ना यार दर्द हो रहा हैं !

मैंने कहा दर्द में मजा हैं और जोर जोर से झटके मारने लगा! करीब 10 मिनट तक मैंने झटके मारे और फिर मैंने देखा तन्नू की चुत से उसका पानी निकल गया!

वो बिलकुल ढीली पड़ गयी और फिर मैंने भी दो चार झटके मारे और सारा माल उसकी चुत में डाल दिया! उसके बाद साफ़ सफाई करके उसने कपड़े पहने और सीधा इंस्टिट्यूट चले गए! उसके बाद जब भी हमे मौका मिलता हम चुदाई करते!

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी उम्मीद है आपको भी ऐसी लड़किया जरूर मिली होगी! अगर हां तो हमे अपनी कहानी antarvasnastory.in@gmail.com पर भेजे! धन्यवाद !!

Leave a Comment