तमिल भाभी की सेक्स स्टोरी भाग-2

फिर मैंने उसकी साड़ी खोली और उसने ऐसे आँख बंद करदी जैसे नशे में बेहोश हैं मैं थोड़ा घबराया हुआ था इसीलिए फटाफट उसके कपड़े उतार रहा था!

पहले मैं शर्मा रहा था पर जब उसने अपनी आंखे बंद करदी तो मुझे शर्म थोड़ी कम आयी!

मैंने उसको ब्लाउज और पेटीकोट तक उतार दिया फिर मैंने वो भी उतार दिए अब वो ब्रा और पेटीकोट में थी!

उसकी ब्रा से उसके बूब्स निकलने को हो रहे थे और वो नशे में थी तो मुझे भी थोड़ी ठरक जागी और मैंने उसकी ब्रा उतार दी!

उसके बूब्स मेरे सामने थे और मेरी आंखे उसे देखकर गरम हो गयी !

उसने अपनी पैंटी इतनी मस्त पहन रखी थी और उसके हलके से चूत बाल दिख रहे थे!

मेरा मन मचल गया मैंने उसकी पैंटी उतार दी और उसकी चूत अब साफ़ मेरे सामने थी!

मैंने उसके बूब्स दबाये और चूत को सहलाया और उसके होंठ चुम लिए! तभी उसने बोला मजा आ रहा हैं सर करते रहिये!

मेरी हालत खराब की ये होश में कैसे आ गयी? मैं झटके से पीछे हट गया और मैंने कहा अरे वो मैं ये वो, तो उसने मेरे होंठ पर चूमना शुरू करदिया!

मैं समज नहीं पाया ये क्या हो रहा हैं उसने कहा सर घबराये नहीं मैं पुरे होश में ही थी!

जब उसने ये बोला तो मैं समज गया वो चुदना चाहती हैं पहले मुझे गुस्सा आया की वो नाटक कर रही थी!

पर गुस्सा माँ चुदाई, मुझे तो तमिल भाभी की चुदाई करनी थी, मैंने उसे तब तक चूमा जबतक उसकी सारी लिपस्टिक न चूस ली हो!

उसके बाद मैंने उनके बूब्स चूसे और मस्ती में आह सिसकारियां ले रही!

मैंने उसके शरीर का हर एक अंग चूसा और मैं चूत पे आया मुझे वो तमिल चूत का स्वाद चखना था की वो कैसी होती हैं!

मैंने उसकी चूत को चाटना शुरू करदिया और क्या मजेदार चूत थी उसकी मजा आ गया चूसने में!

मैंने उसे लंड चूसने को कहा उसने फाटक से मुँह में लेलिया और ऐसे चूसा मानलो आज के बाद कभी लंड चूसने को नहीं मिलेगा!

वो पुरे होश में थी उसे नशे नहीं हुई थे वो बस मुझसे चुदना चाहती थी!

मैंने अपना लंड उसके मुँह से निकाला और उसकी टाँगे उठायी और चूत में डाल दिया! वो कराह उठी दर्द से मीठे दर्द से और तमिल में कुछ मजेदार बोल रही थी!

उसके चेहरे से लग रहा था की वो तमिल में चोदो मुझे जोर जोर से चोदो कह रही होगी!

मैंने उसके चेहरे के हाव भाव से समज गया और उसकी जोर जोर से चूत मारने लगा!

उसकी हर झटके के साथ जोर से साँस बहार आ रही थी फु फु फु करके और बोल रही हाय अम्मा उइ मर गयी जोर से जोर से!

मेरा हाथ एक उसके बूब्स पर एक उसकी गांड सेहला रहा था!

अचानक उसे ज़ोश आया और उसने मेरी अच्छे से किस लेली और मेरे मुँह में अपनी जीभ डालने लगी!

मेरा मुँह उसके मुँह में, मेरा लंड उसकी चूत में, मेरे हाथ उसके बूब्स और गांड पर बस इससे ज्यादा क्या चाहिए एक मर्द हो!

कुछ देर ऐसी मस्त चुदाई चली वो चिल्लाई मैं झड़ने वाली हूँ सर जोर से करो मैंने उसकी आवाजे सुनकर जोर से चुदाई करनी शुरू करी और मेरा माल सारा उसकी चूत में निकल गया!

वो अपनी चूत सेहलायी जा रही थी और उसका भी पानी निकल गया! हम दोनों अच्छे से थक चुके थे तो वही सो गए!

उस रात मैं वही सोया और अगले दो दिन जबतक उसका पति नहीं आया तबतक उसकी काम से काम 6 बार चुदाई करी!

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी उम्मीद है आपको पसंद आयी इसी तरह की कहानी पड़ने के लिए antarvasnastory.in पर जाए! धन्यवाद

Leave a Comment